अंबानी भाइयों के बीच रिलायंस तो बंट गई लेकिन दिल नहीं, मां कोकिला बेन ने निभाई अहम भूमिका

 
नई दिल्ली

अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन्स (RCom) के दिवाला प्रक्रिया को एसबीआई बोर्ड ने मंजूरी दे दी है। एकबार फिर उन्हें भाई का साथ मिला। बड़े भाई मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो आरकॉम के टॉवर और फाइबर बिजनस को खरीदेगी। इसके बदले कंपनी 4700 करोड़ देने को तैयार है। आरकॉम पर 82000 करोड़ का भारी कर्ज है।
एक तरफ विश्व के नौवें सबसे अमीर मुकेश अंबानी की संपत्ति लगातार बढ़ती जा रही है। दूसरी तरफ अनिल अंबानी लगातार गरीब हो रहे हैं। भले ही दोनों भाइयों का रास्ता 2008 में एक विवाद के साथ अलग-अलग हो गया था, लेकिन मां कोकिलाबेन अंबानी ने बंटवारे के जख्म पर लगातार मरहम लगाई। यही वजह है कि जब एरिक्शन मामले में अनिल अंबानी के जेल जाने की नौबत आ गई थी तब मुकेश अंबानी ने बड़े भाई के नाते 500 करोड़ जमा कर उन्हें जेल जाने से बचाया।
 
साल 2002, जब तक धीरूभाई अंबानी जिंदा थे दोनों भाइयों के बीच बेशुमार प्यार था। उसी साल दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई। उन्होंने कोई वसीयत नहीं लिखी थी। इसी के बाद दोनों भाइयों के बीच विवाद शुरू हो गया। 2005 में मां कोकिलाबेन ने दोनों भाइयों का बंटवारा कर दिया। मुकेश अंबानी को ऑयल और केमिकल बिजनस दिया गया, जबकि छोटे बेटे अनिल अंबानी को प्रॉफिट मेकिंग टेलिकॉम और इलेक्ट्रिसिटी बिजनस दिया गया।
 
सालों तक दोनों भाइयों के रिश्ते बिगड़े रहे। रिश्तों में कड़वाहट का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 2008 में अनिल अंबानी ने मुकेश अंबानी के खिलाफ 10 हजार करोड़ का मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया था। उस दौरान मुकेश अंबानी ने अमेरिकन मैगजीन  को एक इंटरव्यू दिया था। उसी के कुछ हिस्से को लेकर अनिल की शिकायत थी।
 

2010 में दोनों भाइयों के बीच गैस प्राइस से जुड़ा एक विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था। मुकेश अंबानी के पास गैस का बिजनस था और अनिल के पास रिलायंस नैचुरल रिसोर्स का बिजनस। सुप्रीम कोर्ट के फैसले में बड़े भाई की जीत हुई थी। उस दौरान भी मां कोकिलाबेन सामने आईं और विवाद को सुलझाया था।
 
हालांकि जब मुकेश अंबानी की बेटी ईशा अंबानी और बेटे आकाश अंबानी की शादी हुई थी, तब अनिल अंबानी फंक्शन में पूरी फैमिली के साथ शामिल हुए थे। उसी घटना के बाद से माना जा रहा है कि दोनों भाइयों के रिश्ते सुधरने लगे हैं।
 

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बस स्टैंड फव्वारा चौक पर प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत घर-घर जाकर किया संपर्क, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव जेवियर मेड़ा एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रांका के नेतृत्व में हुआ कार्यक्रम

[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!