शिवराज बोले- MP में कुछ होता है तो हो जाने दो

भोपाल
मध्य प्रदेश में जारी सियासी ड्रामे को शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस का खुद का बोझ बताया है। पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) खरीद-फरोख्त के पीछे नहीं है लेकिन अगर कांग्रेस के बोझ से ही कुछ होता है तो हो जाने दो। बताते चलें कि कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि शिवराज सिंह चौहान समेत कई बीजेपी नेता कांग्रेस के विधायकों को अपने साथ हरियाणा के एक होटल में ले गए थे।

बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान ने बुधवार को कहा कि कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्य प्रदेश सरकार अपने विधायकों को एकजुट रखने में असमर्थ है और हम पर विधायकों की खरीद-फरोख्त और उन्हें बंधक बनाने का आरोप लगा रही है। शिवराज सिंह चौहान का यह बयान कांग्रेस नेता जीतू पटवारी के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि कमलनाथ सरकार को गिराने के लिए शिवराज सहित बीजेपी के कुछ नेता आठ विधायकों को जबरन हरियाणा की एक होटल में ले गए।

दिग्विजय सिंह ने कहा था-बीजेपी दे रही करोड़ों का ऑफर
इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने दावा किया था कि बीजेपी मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश के तहत प्रदेश के कुछ कांग्रेस, बीएसपी और एसपी विधायकों पर डोरे डाल रही है। इसी के तहत बीएसपी की विधायक राम बाई को बीजेपी के एक नेता सोमवार को चार्टर प्लेन में भोपाल से दिल्ली ले गए थे। इसके अलावा, दिग्विजय ने बीजेपी नेताओं पर कमलनाथ की सरकार को गिराने के लिए कांग्रेस विधायकों को 25 से 35 करोड़ रुपये का ऑफर देने का भी आरोप लगाया था। हालांकि, बीजेपी ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया, ‘हमने पहले भी कहा है कि हम (विधायकों की खरीद-फरोख्त की) ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं हैं। लेकिन अपने बोझ से (इस मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार का) कुछ होता है तो हो जाने दो।’ मध्य प्रदेश के कुछ कांग्रेस, बीएसपी और एसपी विधायकों को बीजेपी द्वारा बंधक बनाए जाने के दिग्विजय और जीतू पटवारी के आरोपों पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘उनका काम केवल आरोप लगाना है। कांग्रेस में इतने गुट हैं कि आपस में ही मारामारी मची हुई है और आरोप हम पर लगाते हैं। इसका अर्थ क्या है?’

शिवराज बोले- मैंने क्या किया, दिग्विजय सिंह को इससे क्या लेना-देना?
शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ‘पूरा प्रदेश त्राहि-त्राहि कर रहा है। किसान परेशान है, रो रहा है। गरीब, बच्चे, माताएं–बहने परेशान हैं। कांग्रेस के विधायक खुद परेशान हैं। अब मामला उनके (कांग्रेस के) घर का है। आरोप हम पर लगाते हैं। ये कौन सी बात है?’ दिग्विजय द्वारा बीजेपी पर मध्य प्रदेश के विधायकों की खरीद-फरोख्त करने के आरोपों का जवाब देते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा, 'मैं तो दिल्ली आता-जाता रहता हूं। भारतीय जनता पार्टी का उपाध्यक्ष हूं। जब दिल्ली बुलाते हैं, जाता हूं। बीजेपी के काम से जाता हूं और अभी (मध्यप्रदेश के) आगरमालवा जा रहा हूं। मैंने क्या किया, दिग्विजय सिंह को इससे क्या लेना-देना?’

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश विधानसभा में 230 सीटें हैं, जिनमें से वर्तमान में दो खाली हैं। इस प्रकार वर्तमान में प्रदेश में कुल 228 विधायक हैं, जिनमें से 114 कांग्रेस, 107 बीजेपी, चार निर्दलीय, दो बहुजन समाज पार्टी और एक समाजवादी पार्टी का विधायक है। कांग्रेस सरकार को इन चारों निर्दलीय विधायकों के साथ-साथ बीएसपी और एसपी का भी समर्थन है।

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!