उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा स्वाइन फ्लू के मरीज मेरठ में

 मेरठ 
स्वाइन फ्लू के उत्तर प्रदेश में अब तक 100 केस मिल चुके हैं, इनमें से 78 केस सिर्फ मेरठ जिले से हैं। इतनी बड़ी संख्या में स्वाइन फ्लू के मरीज मिलने के बाद लखनऊ मुख्यालय तक हड़कंप मचा है। शनिवार देर शाम तीन सदस्यीय संयुक्त निदेशक की टीम लखनऊ से मेरठ पहुंच गई।

टीम ने देर शाम सीएमओ कार्यालय पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के बाद टीम ने मेडिकल अस्पताल के स्वाइन फ्लू वार्ड में भर्ती मरीजों के इलाज की जानकारी ली। इसके बाद टीम रात में पीएससी छठी बटालियान पहुंची यहां मरीजों के परिवारों से मुलाकात की। स्वाइन फ्लू को लेकर जिले में हाईअलर्ट जारी कर दिया गया है। वहीं स्वाइन फ्लू की जांच करने वाले मेडिकल की माइक्रोबायोलॉजी लैब के टैक्नीशियन को भी स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है।

छह और मरीज मिले
सीएमओ डॉ राजकुमार चौधरी ने बताया कि शनिवार को मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबॉयोलॉजी विभाग की लैब में 16 सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें से छह लोगों के सैंपल की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इन छह मरीजों में एक बच्ची भी है। इन सभी मरीजों के सम्पर्क वालों को स्वाइन फ्लू की प्रिवेंटिव डोज टेमी फ्लू दी गई है। वहीं स्वाइन फ्लू से पीड़ित पीएससी जवान और उनके परिवार के 41 लोगों को टेमी फ्लू दी गई है।

पीएसी के जवानों समेत 482 की निगरानी 
स्वास्थ्य विभाग ने पीएसी के जवानों और उनके परिवारों के 482 लोगों को निगरानी में रखा है। इनको सख्त हिदायत दी गई है कि अन्य लोगों के सम्पर्क से दूर रहें। इनको बचाव की जानकारी दी गई है। अगर इनमें से किसी को खांसी, जुकाम, बुखार, गले में खरास, दर्द के लक्षण मिलते हैं तो इनका भी सैंपल लेकर स्वाइन फ्लू की जांच के लिए भेजा जाएगा।

540 लोगों को टेमी फ्लू और मास्क उपलब्ध कराया 
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रेम सिंह ने बताया कि पीएसी छठी बटालियन का निरीक्षण किया गया है। यहां 540 लोगों को टेमी फ्लू दवा, मास्क उपलब्ध करा दिए हैं। पीएसी के अस्पताल में स्वाइन फ्लू के संदिग्ध छह मरीज भर्ती हैं। इनको भी टेमी फ्लू दवा दी गई है।

20 हजार टेमी फ्लू की टेबलेट स्वास्थ्य विभाग में पहुंचीं 
देर शाम स्वास्थ्य विभाग को स्वाइन फ्लू के दो हजार मरीजों के लिए 20 हजार टेमी फ्लू टेबलेट उपलब्ध हो गईं। स्वास्थ्य विभाग के सेंट्रल स्टोर में यह दवा पहुंच गई है। अन्य जिलों से मास्क एन-95 मांगे गए हैं।

देर रात तक लखनऊ की टीम ने की बैठक
लखनऊ से आई तीन सदस्यीय टीम ने सीएमओ कार्यालय में देर रात तक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। जिले में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या और इससे होने वाली मौत के रिकार्ड को खंगाला। टीम कई दिनों तक जिले में रहेगी और सरकारी और निजी अस्पतालों में आइसोलेशन वार्ड समेत अन्य संसाधनों का निरीक्षण करेगी।

माइक्रोबॉयोलोजी लैब के टेक्नीशियन को भी स्वाइन फ्लू
मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबॉयोलॉजी लैब के टेक्नीशियन को स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई है। यह टेक्नीशियन लैब में स्वाइन फ्लू के सैंपल की जांच करता है। इसके बाद मेडिकल कॉलेज के स्टाफ, डाक्टर में स्वाइन फ्लू को लेकर दहशत बनी हुई है।

सभी ने लगाए मास्क, सुरक्षाकर्मी भी डरे
मेडिकल अस्पताल की इमरजेंसी में बने आइसोलेशन वार्ड के बाहर सुरक्षा में लगाए गए सुरक्षाकर्मी, स्टाफ और डाक्टर में दशहत का माहौल है। सभी मास्क लगाए हैं।

पीएसी के 18 जवान मेडिकल में भर्ती
मेडिकल अस्पताल के डॉ. अरविंद्र कुमार ने बताया कि सुपर स्पेशलियटी अस्पताल में भी स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या ज्यादा होने की वजह से अलग से स्वाइन फ्लू वार्ड बनाया गया है। अब अस्पताल में स्वाइन फ्लू के दो वार्ड हो गए है। इनमें 18 पीएससी के जवान, लैब टेक्नीशियन समेत अन्य तीन लोग भर्ती हैं।

हाथ मिलाना भी छोड़ा
स्वाइन फ्लू के खौफ से अस्पताल, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, कर्मचारी, डाक्टर समेत जागरुक लोगों ने एक दूसरे से हाथ मिलाने से परहेज करना शुरू कर दिया है। इंफेक्शन फैलने के डर से लोगों ने हाथ मिलाना बंद कर दिया है।

इन अस्पतालों में आईसोलेशन वार्ड तैयार
सुभारती मेडिकल कॉलेज, मुलायम सिंह मेडिकल कॉलेज, लोकप्रिय अस्पताल, केएमसी समेत शहर के अन्य अस्पतालों में आईसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं।

बरसात ने बढ़ा दी मुश्किल
शनिवार को हुई बारिश के बाद स्वाइन फ्लू वायरस के बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। मेडिकल के माइक्रोबॉयलोजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ अमित गर्ग ने बताया कि नमी में स्वाइन फ्लू के वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। ऐसे में लोग अधिक सावधानी बरतें।

बाजारों से गायब हुए मास्क
स्वाइन फ्लू का असर बढ़ते ही मेरठ के दवा बाजार से एन-95 समेत सामान्य मास्क तक गायब हो गए हैं। लोगों को ढूंढे भी मास्क नहीं मिल रहे हैं। अगर कहीं यह मिल भी रहे हैं तो काफी अधिक दाम पर बेचे जा रहे हैं।

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!