यूपी, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड में कोरोना का एक भी मरीज नहीं, डर बरकरार

 लखनऊ 
खतरनाक वायरस कोरोना की कड़ी निगरानी के बीच उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, उत्तराखंड में अब तक एक भी मरीज नहीं मिला है। हालांकि बरकरार डर को देखते हुए संदिग्धों की जांच की जा रही है और एहतियाती उपाय कड़ाई से किए जा रहे हैं। 

उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह ने कहा है कि इस समय प्रदेश में कोरोना का कोई मरीज नहीं है। आगरा के छह और गाजियाबाद के एक व्यक्ति जिनकी जांच में वायरल लोड अधिक पाए गए हैं, उन्हें दिल्ली के अस्पतालों में इलाज के लिए दाखिल कराया गया है। उन्होंने बताया कि नेपाल सीमा से प्रदेश में आने वाले करीब 10 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है।

हालांकि विदेशी पर्यटकों के साथ-साथ लखनऊ की ऐतिहासिक इमारतें घूमने आने वाले भारतीय पर्यटकों की संख्या में 50 फीसदी तक गिरावट आ गई है। आगरा में कोरोना वायरस से दहशत के बीच राधास्वामी समाध पर दर्शकों का प्रवेश अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। वहीं चौधरी चरण सिंह विवि ने मेरठ-सहारनपुर मंडल के नौ जिलों में छात्र-छात्राओं को होली पर आपस में गुलाल लगाने पर रोक लगा दी है। 

बिहार में एक लाख 12 हजार लोगों की स्क्रीनिंग
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर सभी संबंधित पदाधिकारियों को जिम्मेवारी सौंप दी गयी है। हर स्तर पर सरकार सतर्क है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि इस पर बहुत भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि गुरुवार की शाम तक बिहार के एक भी संदिग्धों में कोरोना के लक्षण नहीं पाये गए हैं।  पांडेय ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी मुस्तैदी के साथ तैयार और अलर्ट है। नेपाल से आने वाले 1 लाख 12 हजार लोगों की स्क्रीनिंग की गई है। इसके लिए इंडो-नेपाल सीमा पर 49 जगहों पर स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है।

झारखंड में चार संदिग्धों में से तीन में पुष्टि नहीं
विदेश से लौटने वाले जिन चार लोगों के सैंपल कोरोना की जांच के लिए कोलकाता भेजे गए थे उनमें से तीन की रिपोर्ट गुरुवार देर शाम रिम्स के माईक्रोबायोलॉजी विभाग को मिल गई है। माईक्रोबायोलॉजी विभाग के एचओडी डॉ मनोज कुमार ने बताया कि तीनों की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। किसी में कोरोना की पुष्टि नहीं हुई है।  चौथा संदिग्ध धनबाद के निरसा का रहने वाला है। उसकी रिपोर्ट शुक्रवार तक आने की संभावना है। 

उत्तराखंड में बाहर से आए लोगों को 14 दिन घर रहने को कहा
उत्तराखंड सरकार ने दिल्ली, आगरा, राजस्थान और बेंगलुरु से होकर राज्य में लौटे लोगों को 14 दिन तक घर पर ही आराम करने को कहा है। कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए यह एडवायजरी जारी की गई है।

प्रभारी सचिव चिकित्सा डॉ. पंकज पांडेय ने कहा कि कोरोना वायरस के लक्षण सामने आने में काफी समय लगता है। ऐसे में विदेशों व देश के अन्य शहरों से राज्य में आ रहे लोगों की निगरानी बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। 

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बस स्टैंड फव्वारा चौक पर प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत घर-घर जाकर किया संपर्क, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव जेवियर मेड़ा एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रांका के नेतृत्व में हुआ कार्यक्रम

[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!