कमलनाथ को अपनों से ही संकट? कांग्रेसी मंत्री बोले- बर्दाश्त नहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया का अनादर

 भोपाल 
मध्यप्रदेश में सियासी उठापटक जारी है। इस बीच कमलनाथ कैबिनेट के मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, 'कमलनाथ जी की सरकार को संकट तब होगा, जब सरकार हमारे नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया जी की उपेक्षा या अनादर करेगी।'

सिसोदिया ने कहा कि अगर ज्योतिरादित्य सिंधिया की सरकार उपेक्षा या अनादर करेगी तब निश्चित तौर से सरकार पर जो काले बादल छाएंगे, वो क्या कर जाएंगे, मैं यह कह नहीं सकता।
 
एमपी में जारी राजनीतिक ड्रामे के बीच बीजेपी के विधायक और पूर्व मंत्री संजय पाठक ने दावा किया है कि उनकी जान को खतरा है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस में जाने की अटकलों से भी इंकार किया है। कटनी जिले के विजयराघवगढ़ विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक संजय पाठक ने एक वीडियो बयान जारी कर मीडिया में दिखाई जा रही मुख्यमंत्री आवास पर गुरुवार देर रात उनकी और मुख्यमंत्री कमलनाथ की मुलाकात की खबरों का पुरजोर खंडन करते हुए कहा कि वह अपनी पार्टी के साथ हैं।

इस बयान में प्रदेश के सबसे धनी विधायक पाठक ने कहा, 'किसी भी तरह का भ्रम न फैलाएं, मैं भाजपा के साथ था, भाजपा के साथ हूं और भाजपा के साथ ही रहूंगा। पूरे प्रदेश के लोग देख रहे हैं कि मेरे साथ क्या हो रहा है। बस इतना ख्याल रखना कि कहीं मैं मारा नहीं जाऊं। ये लोग अपने राजनीतिक लाभ के लिए मुझे मार कर कहीं भी फेंक सकते हैं।'

पाठक ने अपना यह वीडियो बयान ट्वीट किया है। भाजपा विधायक ने यह भी कहा कि वर्तमान में वह अपने परिवार की चिकित्सा में व्यस्त हैं। उन्होंने स्पष्ट किया, 'इन खबरों में कोई सच्चाई नहीं है कि मैं गुरुवार रात मुख्यमंत्री कमलनाथ से उनके आवास पर मिला था। इस मामले में मीडिया में जो तस्वीर दिखाई जा रही है वह गलत है। उस तस्वीर में चेहरा ढंकने वाला व्यक्ति मैं नहीं हूं।'

इससे पहले बुधवार को भाजपा नेताओं द्वारा कथित तौर पर प्रदेश कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के आरोपों के बीच सरकार ने आदेश जारी कर पाठक की कंपनी की लौह अयस्क खदानों को बंद करने के आदेश जारी किए। संजय पाठक पूर्व में कांग्रेस के विधायक थे, बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शासन काल में मंत्री भी रहे।

गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने संजय पाठक, शिवराज सिंह चौहान सहित भाजपा के पांच नेताओं का नाम लेकर उन्हें विधायकों की खरीद-फरोख्त के लिए जिम्मेदार बताया। शुक्रवार सुबह भोपाल हवाई अड्डे पर दिग्विजय सिंह ने संजय पाठक के कांग्रेस में शामिल होने के सवाल पर कहा कि भाजपा विधायक पाठक के पिता सत्येंद्र पाठक उनके मित्र हैं और उनके मंत्रिमंडल में मंत्री भी थे। उन्होंने कहा कि वह मेरे दोस्त का बेटा है लेकिन पैसा कमाने के बाद वह रास्ता भटक गया।

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!