गिर में दो साल के भीतर 261 शेरों की मौत

अहमदाबाद
गुजरात के प्रसिद्ध सासन गिर जंगलों में बीते साल शेरों की मौत के 140 से अधिक मामले सामने आए है। बीते दो सालों में सासन गिर के जंगल में कुल 261 शेरों की मौत हुई है। इनमें 148 शेरों की मौत 2019 और 113 शेरों की मौत 2018 में हुई है। गुजरात सरकार की ओर से विधानसभा में दिए गए एक जवाब में इन आंकड़ों को जारी किया गया है।

सरकार ने विधानसभा में जारी आंकड़ों में बताया है कि अप्राकृतिक कारणों या हादसों में 11 शेरों और 6 शावकों की जान गई है। हालांकि सरकार ने यह स्पष्ट भी किया है कि अप्राकृतिक कारण से हुई मौतों की संख्या बीते साल की अपेक्षा कम हुई है।

सरकार की ओर से वन मंत्री गनपत वसावा ने कहा है कि गिर के जंगलों में शेरों के संरक्षण के लिए तमाम महत्वपूर्ण इंतजाम किए जा रहे हैं। वहीं अप्राकृतिक कारणों से होने वाली मौत को कम करने के लिए भी कई बड़े कदम उठाए गए हैं। उन्होंने बताया कि जंगल में जीवों के संरक्षण के लिए वेटरनरी डॉक्टरों की तैनाती की गई है। साथ ही जंगली जानवरों को रेलवे ट्रैक और सड़क पर जाने से रोकने के लिए जंगलों के परिक्षेत्र के आसपास दीवारों को बनाया जा रहा है।

जंगल में बनाया गया है अस्पताल
मंत्री ने बताया कि सासन गिर के जंगलों के पास सरकार की ओर से यहां की सड़कों पर स्पीड ब्रेकर बनाए गए हैं, जिससे कि वाहनों की तेज गति पर कंट्रोल रखा जा सके। इसके अलावा गिर के जंगलों के इलाके में ही वन्य जीवों के लिए एक स्टेट ऑफ आर्ट अस्पताल बनाया गया है, जहां पर शेरों का समय रहते इलाज हो सके।

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer
[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!