रश्मि देसाई ने सिद्धार्थ को लेकर बताईं अपनी फीलिंग्स

एक वक्त था जब रश्मि देसाई और सिद्धार्थ शुक्ला के अफेयर के चर्चे खूब आम थे। हालांकि रश्मि बार-बार इससे इनकार ही करती रही हैं। लेकिन जिस तरह से 'बिग बॉस 13' में दोनों के बीच झगड़े होते थे, उससे बाकी घरवालों के मन में भी सवाल उठने लगे थे कि क्या वाकई दोनों के बीच कुछ था? शहनाज ने तो यहां तक कहा था कि जिन लोगों के बीच गहरा प्यार होता है, उन्हीं के बीच इस तरह के भयानक झगड़े होते हैं।

'रिलेशनशिप में नहीं थे हम'
हालांकि बाद में रश्मि और सिद्धार्थ के बीच सब ठीक हो गया। बिग बॉस खत्म होने के बाद रश्मि ने बताया भी था कि अब सिद्धार्थ और उनके बीच एक अच्छी दोस्ती है और सब ठीक है। लेकिन हाल ही एक इंटरव्यू में रश्मि ने सिद्धार्थ शुक्ला को लेकर अपने दिल की बात कही। रश्मि ने कहा, 'हम 'दिल से दिल तक' के दौरान रिलेशनशिप में नहीं थे। हमारे बहुत झगड़े हुए हैं बिग बॉस में। लेकिन शो के आखिर तक आते-आते हमारे बीच एक अच्छी अंडरस्टेंडिंग बन गई थी।'

'उसको मेरी आदत हो चुकी होगी और मुझे उसकी'
रश्मि ने आगे कहा, 'मुझे पूरा विश्वास है कि साढ़े चार महीने बाद उसको मेरी आदत हो चुकी होगी और मुझे उसकी। सिद्धार्थ और मेरे विचार नहीं मिलते और हमारी राय भी एक-दूसरे से काफी अलग होती है। इसी वजह से हम 'दिल से दिल तक' के सेट पर अकसर लड़ा करते थे। जैसा कि मैं हमेशा कहती हूं कि सिद्धार्थ एक 10 साल का बच्चा है जो बस एक विशालकाय शरीर के अंदर कैद है। अपने मतभेदों को अलग छोड़ दें तो हम काफी प्रफेशनल थे। शो पर वह काफी सहयोग करते थे। लेकिन दोस्त बनने के बाद भी हम लड़ना नहीं छोड़ते थे। लेकिन जब हमारे झगड़े बढ़ते गए तो मैंने सिद्धार्थ के साथ दोस्ती खत्म करने का फैसला किया। ऐसी दोस्ती का क्या फायदा जिसमें आप अपने दोस्त को नहीं समझ पा रहे हो।'

वहीं कुछ दिनों पहले रश्मि ने सिद्धार्थ शुक्ला के 'बिग बॉस 13' का फिक्स्ड विनर बताए जाने पर भी बचाव किया था और कहा था कि ऐसा कहना बेवकूफी है। सिद्धार्थ शो जीतना डिजर्व करते हैं।

Noman Khan
Author: Noman Khan

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

What does "money" mean to you?
  • Add your answer

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बस स्टैंड फव्वारा चौक पर प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत घर-घर जाकर किया संपर्क, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव जेवियर मेड़ा एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रांका के नेतृत्व में हुआ कार्यक्रम

झाबुआ का भगोरिया नृत्य अब विदेशों के मंच पर भी धूम मचाने को है तैयार, इंदौर में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में रंग आरोहण नाट्य संस्था के कलाकारों की प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध हुए प्रवासी भारतीय, अबू धाबी, अफ्रीका, जर्मनी, कतर में प्रस्तुति देने के लिए किया आमंत्रित, भारतभर में धूम मचा रहे संस्था के युवा कलाकार

स्वामी विवेकानंद की 159वीं जयंती के अवसर पर जन अभियान परिषद् द्वारा पुलिस सामुदायिक भवन में जिला स्तरीय कार्यशाला का हुआ आयोज, अतिथि एवं वक्ताओं ने विवेकानंदजी के व्यक्तित्व तथा कृतित्व रखे अपने-अपने विचार

वनवासी कल्याण परिषद युवा प्रमुख एवं हित रक्षा तथा समस्त विद्यार्थियों ने मिलकर निकाली रैली, 1710 विद्यार्थियों द्वारा हस्ताक्षर कर ऑनलाइन परीक्षा केंद्र जिले में खोले जाने एवं कृषि महाविद्यालय की मांग को लेकर सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

कांग्रेस ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बस स्टैंड फव्वारा चौक पर प्रतिमा पर किया माल्यार्पण, भारत जोड़ो यात्रा के बाद अब हाथ से हाथ जोड़ो अभियान के तहत घर-घर जाकर किया संपर्क, कांग्रेस के प्रदेश महासचिव जेवियर मेड़ा एवं जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रांका के नेतृत्व में हुआ कार्यक्रम

झाबुआ का भगोरिया नृत्य अब विदेशों के मंच पर भी धूम मचाने को है तैयार, इंदौर में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में रंग आरोहण नाट्य संस्था के कलाकारों की प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध हुए प्रवासी भारतीय, अबू धाबी, अफ्रीका, जर्मनी, कतर में प्रस्तुति देने के लिए किया आमंत्रित, भारतभर में धूम मचा रहे संस्था के युवा कलाकार

[adsforwp id="60"]
error: Content is protected !!